देश

Rahul Gandhi: वॉट्सऐप-फेसबुक पर कब्ज़ा कर BJP और RSS फैलाते है फेक न्यूज़

3
bharat headlines
Rahul Gandhi वॉट्सऐप-फेसबुक पर कब्ज़ा कर BJP और RSS फैलाते है फेक न्यूज़

rahul gandhi

राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने ट्वीट कर लिखा-‘BJP और RSS का भारत में Facebook और Whatsapp पर कब्जा ( BJP Controls Facebook & Whatsapp ), फेक न्यूज और नफरत फैला मतदाताओं को प्रभावित करते हैं.

 

BJP Controls Facebook

भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) निशाना साधते हुए कहते है कि बीजेपी ( BJP ) और आरएसएस ( RSS ) दोनों ही भारत में वॉट्सऐप ( Whatsapp ) और फेसबुक ( Facebook ) को नियंत्रित करते हैं (BJP Controls Facebook and Whatsapp). वे इसके माध्यम से नफरत और फर्जी खबरें फैलाते हैं.

असल में, फेसबुक ( Facebook ) के कर्मचारियों के हवाले रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में ऐसे बहुत से लोग हैं जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नफरत फ़ैलाने का काम करते है. कर्मचारियों का कहना है कि वर्चुअल दुनिया में नफरत बढ़ाने वाली पोस्ट करने से असली दुनिया में तनाव और हिंसा को बढ़ावा मिलता है।

Also Read: कौनसी तारीख को अपने दूसरे बच्चे का स्वागत करेंगे सैफ अली खान और करीना कपूर?

क्या है मामला

The Wall Street Journal जो की एक अमेरिकी समाचार पत्र है उनके द्वारा एक रिपोर्ट में लिखा गया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता टी.राजा ने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि रोहिंग्या मुसलमानों को गोली मारनी चाहिए साथ ही मुस्लिमों को देशद्रोही बताया एवं मस्जिद गिराने तक की भी धमकी दी। इसका विरोध फेसबुक ( Facebook ) की ही कर्मचारी के द्वारा हुआ और इसे कंपनी के नियमों का उल्लंघन बताया। हालांकि फेसबुक ( Facebook ) कंपनी के भारत में बैठने वाले वरिष्ठ कर्मचारियों ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया और कुछ नहीं किया। अब फेसबुक की विश्वसनीयता को लेकर भी काफी सवाल उठाए जा रहे हैं.

फेसबुक ( Facebook ) पर उठे सवाल

इस रिपोर्ट को लेकर दिग्विजय सिंह जो की कांग्रेस के वरिष्ठ नेता है ने फेसबुक  के सीईओ मार्क जकरबर्ग से रविवार को ट्वीट कर जवाब माँगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास समर्थक अंखी दास को फेसबुक  में नियुक्त किया गया, जो बहुत खुशी से सभी मुस्लिम विरोधी पोस्ट आर्टिकल्स को सोशल मीडिया पर अप्रूव करने का काम करते है. आपने दिखा ही दिया कि आप जो उपदेश दुनिया को देते रहते हैं उसका पालन खुद नहीं करते है।

वहीं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने भी फेसबुक  को दायरे में ले लिया और कहा कि क्या फेसबुक ( Facebook ) ने बीजेपी ( BJP ) के साथ मिलकर नफरत को बढ़ाया है और चुनावी मुद्दों पर पक्षपात किया है? वॉल स्ट्रीट जनरल की रिपोर्ट में फेसबुक ( Facebook ) के कर्मचारी का कहना हैं कि इस तरह के भड़काऊ भाषण पर अंकुश लगाने से फेसबुक ( Facebook ) के व्यावसायिक हितों को घाटा होगा। ऐसी गड़बड़ी को सार्वजनिक करना ही होगा।

Also Read: Government Jobs- कोरोना के चलते इन सरकारी विभागों में निकली नौकरियां, सैलरी 60,000 से ज्यादा

MS Dhoni ने लिया संन्यास (MS Dhoni Retirement), बॉलीवुड ने दी विदाई

Previous article

Nokia 5.3 Smartphone, 4 कैमरे के साथ जल्द होगा India में लॉन्च, जाने कीमत

Next article

You may also like

3 Comments

  1. […] Also Read: Rahul Gandhi: वॉट्सऐप-फेसबुक पर कब्ज़ा कर BJP … […]

  2. […] READ MORE : Rahul Gandhi: वॉट्सऐप-फेसबुक पर कब्ज़ा कर BJP… […]

  3. […] READ MORE : Rahul Gandhi: वॉट्सऐप-फेसबुक पर कब्ज़ा कर BJP… […]

Comments are closed.