Killer of Nikita Tomar : आखिर कौन है तौफीक, जिस ने ली मासूम की जान ?

Killer of Nikita Tomar : आखिर कौन है तौफीक, जिस ने ली मासूम की जान ?

Killer of Nikita Tomar : 26 अक्टूबर 2020 को एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई जिसमें मासूम लड़की निकिता तोमर (NIKITA TOMAR) की जान चली गई।

Killer of Nikita Tomar

देश में लगातार मासूम लड़कियों की जान पर खतरा बना हुआ है जहां सुरक्षा पर सवाल उठाए जा सकते हैं वही ऐसे मामलों को कम करने के प्रयास भी करना जरूरी है। इस जघन्य अपराध को अंजाम देने वाला शख्स है तौफीक (TAUFIQ)।

Whos is the Killer of Nikita Tomar : आखिर कौन है यह तौफीक

Killer of Nikita Tomar

तौफीक 21 वर्षीय युवा फिजियोथैरेपिस्ट का कोर्स  कर रहा था। वह फरीदाबाद के बल्लभगढ़ का रहने वाला ऐसा शख्स था जिसका समाज में रहना अराजकता को बढ़ाना है।

तौफीक (TAUFIQ) लगातार निकिता तोमर (NIKITA TOMAR) के पीछे पड़ा हुआ था और बार-बार उससे धर्म परिवर्तन करके शादी करने की बात कर रहा था।

Who is Nikita Tomar : एक तरफा प्यार ने ली एक और मासूम निकिता तोमर की जान

सन 2018 में भी उसने निकिता तोमर को किडनैप करने की कोशिश की जिसके खिलाफ एफ आई आर (FIR) दर्ज की गई थी। लेकिन बाद में माफी मांग लेने के कारण पुलिस ने उसे छोड़ दिया था।

Killer of Nikita Tomar : तौफीक का है राजनैतिक  परिवेश

तौफिक ( TAUFIQ) एक राजनैतिक माहौल (POLITICAL BACKGROUND) में पला बड़ा लड़का है, जिसके दादाजी कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं तथा उसके चाचा जावेद अहमद सोहना विधानसभा से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं और हार भी मिल चुकी है।

कहीं ना कहीं हत्याकांड का सारा समावेश उनके राजनैतिक परिवेश को भी देखा जा सकता है। इसके अलावा उनके घर के दूसरे सदस्य भी राजनीति में शामिल है।

Justice for Nikita Tomar : सोशल मीडिया में उतरा जनता का गुस्सा

आए दिन होने वाली ऐसी घटनाओं से देश की जनता बुरी तरह से आहत है और लगातार इंसाफ की मांग (Justice for Nikita Tomar) कर रही है। यह बात अलग है कि हमारे देश में इंसाफ मिलने में वर्षों लग जाते हैं और हिम्मत जवाब देने लगती है।

अगर सोशल मीडिया( SOCIAL MEDIA) में देखा जाए तो लगातार देश की जनता का गुस्सा उतर कर सामने आ रहा है, जो जायज है। देश में देश की बेटियां ही सुरक्षित नहीं है। जिसे लेकर देश के हर क्षेत्र में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है।

Nikita Tomar : निकिता तोमर ने दिखाई थी हिम्मत


 तौफीक ( TAUFIQ)नाम के शख्स ने लगातार निकिता तोमर( NIKITA TOMAR) को परेशान किया और इस हद तक डर बना दिया कि वह कहीं आने जाने में भी परेशान होने लगी। लेकिन वह पढ़ाई में अव्वल थी और लेफ्टिनेंट बनना चाहती थी जिसके लिए उसने तैयारियां भी शुरू कर दी थी।

Killer of Nikita Tomar

बार-बार परेशान किए जाने के बावजूद भी वह कॉलेज परीक्षा देने गई थी और यह इस बात का सूचक है कि निकिता  एक बहादुर लड़की थी और उसने अंतिम समय में भी हिम्मत दिखाई।

Where are the Political Party राजनीतिक पार्टियों ने साधी चुप्पी

देश में जब भी कोई गहमागहमी होती है, तो देश की तमाम राजनैतिक पार्टियां अपना मत लेकर सामने आ जाती हैं। पक्ष और विपक्ष की लड़ाई चलती ही रहती है जहां साबित किया जाता है कि कौन सही और कौन गलत?
 अगर बात इस हत्याकांड की  जाए तो किसी भी राजनीतिक पार्टी ने इस पर अपना बयान नहीं दिया है।

Killer of Nikita Tomar

राहुल गांधी(RAHUL GANDHI) और प्रियंका गांधी ( PRIYANKA GANDHI) अपना प्रचार करने किसी भी  मुद्दे को उठाने लगते हैं। जब हाथरस रेप कांड हुआ वहां पर भी वे लोग पहुंचे थे

लेकिन निकिता तोमर के हत्याकांड में उन्होंने शिरकत करना जरूरी नहीं समझा और ना ही किसी अन्य पार्टी के लोगों ने इस बारे में अपना मत दिया बल्कि अन्य पार्टियों ने चुप्पी साध रखी है।

Where is PM MODI प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की जा रही है इंसाफ की मांग

इस हत्याकांड के बाद पीड़िता के परिवार जनों ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ( PRIME MINISTER MR. NARENDREA MODI) से इंसाफ की मांग की है।

उन्होंने मथुरा दिल्ली हाईवे को जाम कर रखा था और होने वाले जघन्य अपराध के लिए मदद की गुहार लगाई। इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का भी कोई बयान नहीं आया है जिसका सभी लोगों को इंतजार है। इस हत्याकांड के आरोपी तौफीक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

justice for nikita tomar भारत हैडलाइन चला रहा है मुहिम

यह मुद्दा देश के लिए बहुत ही गंभीर मुद्दा है जहां देश में ज्वलंत मुद्दे को सामने लाना बहुत जरूरी है। ऐसे में भारत हैडलाइन( BHARAT HEADLINES) ने भी ट्विटर(TWITTER) पर एक मुहिम चला रखी है जहां लोगों से अपील की जा रही है

Killer of Nikita Tomar

कि इस मुहिम में साथ दिया जाए ताकि जल्द से जल्द निकिता तोमर ( NIKITA TOMAR) को इंसाफ मिल सके और तौफीक ( TAUFIQ) को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। अगली बार यह जघन्य अपराध (Killer of Nikita Tomar) ना होने पाए इसीलिए आप भी भारत हेड लाइन की इस मुहिम में साथ दें।

इस को Tweet को इतना ज़्यादा share और retweet करे के नेता अभिनेता सब #justicefornikitatomar मे जुट जाए

Dolly Deval:

This website uses cookies.